कुरआन क्या है ?

रसोई गैस सलैंडर, अग्निशमन यंत्र तथा समुद्र में सुरक्षा के सुझाव

imagesरसोई गैस सलैंडर पेट्रोल के तरल गैस पर सम्मिलित एक पदार्थ होता है जो घरेलू उपयोग के लिए ऊर्जा का मूल साधन है,  इस लिए इसे जमा करने और इसके प्रयोग के तरीके तथा गैस सीलंडर चूल्हे और उस से संबंधित वायर की सफाई में सावधानी बरतना बहुत जरूरी है .

इस संदर्भ में निम्नलिखित बातों को ध्यान में रखना आवश्यक है :

( 1 ) चूल्हे और गैस रेगूलेटर को हमेशा खुला छोड़े रखने से गैस फैल सकता है जिसके कारण आग लगने की घटना हो सकते हैं।

( 2 ) सलैंडर को चूल्हे के पास रखने से कभी कभी सलैंडर का तापमान बढ़ सकता है परिणाम-स्वरूप सलैंडर में गैस फैल जाएगा फिर गैस बाहर फेंक सकता है।

( 3 ) चूल्हे की सफाई में सुस्ती बरतना और निरंतर उसे साफ न रखना चिकनाई और तेल के जमा होने से रसोई घर में आग लगने का कारण बन सकता है।

 ( 4 )  बच्चों का बिना निगरानी के रसोई घर में होना और चूल्हे को छेड़छाड़ करना दुर्घटना का कारण बन सकता है, इसलिए उन्हें रसोई घर में प्रवेश करने से मना करना चाहिए।

 ( 5 ) गैस सलैंडर के दुरुपयोग में यह शामिल है कि गैस सलैंडर को ज़मीन पर लिटा कर इस्तेमाल किया जाए. इस से सलैंडर की मजबूती और सलामती में भी कमी आती है।

( 6 ) सलैंडर के मुंह के सिरे पर टिश्यू पेपर या लोहे के टुकड़े रखना बहुत बड़ी गलती है जिस से गैस निकलने और सलैंडर के सिरे के नष्ट होने की आशंका है।

घर में गैस फैलने की स्थिति में घर की सुरक्षा हेतु कुछ बातों का ख्याल रखना आवश्यक है:

( 1 )  बिजली की लाइट बिल्कुल चालू न करें, ताकि किसी प्रकार की आग या गर्मी पैदा न हो जो गैस के फ़टने का कारण बने।

( 2 )  दरवाजों और खिड़कियों को खोल कर हवा को निकालने की कोशिश ने करें ताकि गैस से निजात मिल सके।

( 3 ) गैस रिगूलेटर और बरनर की कुंजियाँ अच्छी तरह बंद कर दें।

( 4 )  जहां गैस फैला है वहाँ का सामान हटाकर जगह खाली कर दें।

 तरल पेट्रौलियम गैस सलैंडर ( रसोई गैस )

उचित प्रक्रिया:

 ( 1 ) कुवैत ऑयल टैंकर कंपनी द्वारा होज़ीज़ और विश्वसनीय कमपनियों का उपयोग करें.

( 2 ) होज़ीज़ को पानी और साबुन से भरे हुए स्पंज के एक टुकड़े से जांच करते रहें, और उसे संबंधित स्थान पर फेरते रहें, अगर किसी तरह की सुराख और बुलबुला न पाया जाए तो इसका मतलब यह होगा कि होज़ीज़ और लिंक सुरक्षित हैं.

 ( 3 ) गैस का उपयोग करने के बाद और घर से निकलते समय गैस के रीगूलेटर को बंद कर दें।

( 4 ) चूल्हे,  बर्नर, गैस पाइप लाइन और होज़ीज़ की सफाई हमेशा व्यवस्थित रूप में करते रहें।

( 5 ) गैस से सूचित करने वाला उपकरण रसोई घर में रखना चाहिए ताकि गैस फैलते ही वह तुरंत सूचित कर सके।

( 6 ) सलेंडर को सीधा खड़ा करके प्रयोग करें कि रीगूलेटर ऊपर की ओर हो, क्योंकि ऐसी स्थिति में अगर गैस में भाप आदि पैदा हुआ तो खतरे से बचा जा सकता है. अगर सलैंडर को पृथ्वी की सतह पर कर दिया तो उस से गैस निकलने के कारण खतरा की आशंका है , क्योंकि ऐसी स्थिति में चूल्हे से चिंगारी निकल कर आग लगने की घटना पैदा हो सकती है।

( 7 ) सलैंडर को सही ढ़ंग से उठायें और भरें, गलत तरीके से उठाने और भरने से बचें ताकि खतरे से बचा जा सके और सलैंडर प्राप्त करने से पहले सही सलामत होने का विश्वास प्राप्त कर लें.

( 8 ) तरल पेट्रोलियम गैस से संबंधित जानकारी के लिए कृपया कुवैत ऑयल टैंकर कंपनी  फोन नंबर 23260224 से संपर्क करें।

22739_2000x2000FIRE EXTINGUISHER की देखभाल और उपयोग का तरीका

 FIRE EXTINGUISHER आप के लिए और दोसरों के लिए सुरक्षा का साधन है

 अग्निशमन यंत्र ( FIRE EXTINGUISHER ) का उपयोग

निर्देश और सुझावः

( 1 ) अग्निशमन यंत्र (FIRE EXTINGUISHER ) की क्षमता और पावर के प्रति जानकारी रखना जरूरी है , क्योंकि अगर आग लगने की घटना पैश आ जाए तो अल्लाह की अनुमति से बचाने का एक मात्र साधन यही है .

( 2 ) अग्निशमन यंत्र ( FIRE EXTINGUISHER)  पर अंकित इशारा पर नज़र रखें, उसी प्रकार वजन भी देखते रहें।

( 3 ) अग्निशमन यंत्र (FIRE EXTINGUISHER)  पर अंकित सुरक्षा तिथि पर नज़र रखें।

( 4 ) अग्निशमन यंत्र (FIRE EXTINGUISHER) की सुरक्षा प्रक्रिया और उसके बचाव के लिए हर 6 महीने पर संबंधित कंपनी को फोन करें।

 आग लगने के घटनास्थल पर मौजूद लोगों के लिए अग्निशमन यंत्र आग बुझाने और उसे नियंत्रण में रखने के लिए पहला माध्यम है , जिस से आग फैलने तथा उस में उत्तेजना पैदा होने से पहले तक आग पर काबू पाया जा सकता है . इसलिए कोई जगह उचित अग्निशमन यंत्र से खाली नहीं होनी चाहिए , क्योंकि यह आग की शुरुआत और आपातपालीन स्थितियों में अल्लाह की अनुमति से आग पर नियंत्रण रखने में अति सहायक है।

 अग्निशमन यंत्र के उपयोग की विधि :

( 1 )  अग्निशमन यंत्र (FIRE EXTINGUISHER) पर अंकित मार्गदर्शन और सुझाव को पहले पढ़ लें और उचित अग्निशमन यंत्र का उपयोग करें।

( 2 ) आग से उचित दूरी पर खड़े हों और हमेशा हवा की दिशा में रहें।

( 2 ) अग्निशमन यंत्र से सुरक्षा वाल्व की कील को खींचें।

( 3 ) नोज़ल को दहकती हुई आग की दिशा में कर दें।

( 4 ) ऑपरेटिंग बटन को दबाएँ।

( 5 ) आग बुझाने के लिए नोज़ल को दाएँ से बाएँ और बाएँ से दाएँ की ओर घुमाएँ .

( 6 ) दहकती हुई आग को बुझाने के बाद आग की ओर मुंह किए हुए तीन कदम पीछे की ओर लौटें और कुछ देर तक प्रतीक्षा करें ताकि लौटने से पहले आग बुझने का विश्वास प्राप्त हो जाए.

images (1) समुद्र में सुरक्षा

 डाइविंग से पहले सुरक्षा से संबंधित सुझाव:

* आवश्यक है कि विश्वसनीय संस्थानों से डाइविंग लाइसेंस प्राप्त करने के बाद ही डाइविंग करें।

* आवश्यक है कि डाइविंग से संबंधित मेडिकल परीक्षा पास करने के बाद ही डाइविंग करें।

* आवश्यक है कि आप साथी के साथ डाइविंग करें और साथी के साथ डाइविंग की जो प्रणाली है उसकी पाबंदी करें।

* शिड्यूल , समय और डाइविंग की गहराई की पाबंदी करें।

* दो डाइविंग के बीच आराम का जो समय है उसका पालन करें।

* डाइविंग का सामान अच्छी क्वालिटी का उपयोग करें।

* किसी दूसरे को डाइविंग के सामान उपयोग करने के लिए न दिए जाएं।

* डाइविंग के कंप्यूटर को डाइविंग शिड्यूल में ही उपयोग करें।

* अंतिम डाइविंग के चौबीस घंटे के बाद ही ज़मीनी और हवाई यात्रा करें।

* गहराई में डाइविंग के बाद कड़ी मेहनत का काम न करें।

* आपात स्थिति के लिए करीब के चैंबर रूम की जानकारी आवश्यक है।

* पांच मीटर की गहराई में छलांग लगाने के बाद तीन मिनट के लिए आराम करना और ठहरना आवश्यक है।

* यदि डाइविंग करने वाले ने अपना निर्धारित समय पार कर लिया या जो गहराई उसके लिए तय की गई थी उसे पार कर गया तो उसके लिए जरूरी है कि चेम्बर के संकेत का पालन करते हुए रुक जाए।

* डाइविंग के लिए अधिक तेजी से निकलना बेहतर नहीं है, जरूरी है कि डाइविंग के नियमों का पालन किया जाए।

* पेट्रोलियम , बंदरगाहों और सैन्य स्थानों पर डाइविंग नहीं की जा सकती .

* डाइविंग करने वालों की सुरक्षा हेतु डाइविंग स्थानों के प्रति सुझाव प्राप्त कर लेना आवश्यक है।

 सीलिंग से पहले सुरक्षा संबंधी सुझावःimages (2)

* सीलिंग से पहले नाव की सुरक्षा और इंजन की सेफ्टी के बारे में विश्वास प्राप्त कर लें।

* समुद्री सुरक्षा उपकरणों के पाए जाने का विश्वास प्राप्त कर लें, विशेष रूप में  लाइफ जैकेट , बिजली वायर , मोबाइल , बचाव उपकरण ( Equipment distress ) , अग्निशमन यंत्र , फास्ट ऐडबक्स , मखातिफ, हिबाल,  टॉर्च तथा सफाई उपकरण।

* नेविगेशन के सामान, नेविगेशन की लाइट और एलार्म सिगनल की उपलब्धता और उन के सही सलामत होने का विश्वास प्राप्त कर लें।

* सीलिंग से पहले मौसम की स्थिति और समुद्र की स्थिति की जानकारी प्राप्त कर लें .

* अग्निशमन यंत्र  वालों को या कोस्ट गार्ड को सीलिंग से पहले सूचित कर दें, उसी प्रकार सीलिंग कर के पहुंचने की जगह, निकलने और लौटने का समय, सवारियों की संख्या, मोबाइल नंबर, डोंगी का नाम आदि की जानकारी दे दें, और सीलिंग से लौटने के बाद भी उन्हें सूचित कर दें।

 * प्रस्थान और वापसी के लिए इतनी मात्रा में ईंधन अपने पास रख लें जो काफी हो सके।

* खानपान की वस्तुयें इतनी मात्रा में रख लें जो काफ़ी हो सकें।

* दूर के स्थानों की ओर सीलिंग करते समय उत्तम है कि अपने साथ एक डोंगी रख लें।

* प्रतिबंधित क्षेत्रों , बंदरगाहों और समुद्री लंगर के रुकने और प्रस्थान करने के स्थानों पर सीलिंग करने से बचें।

* सीलिंग के बीच लाइफ जाकेट पहनना

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

Leave a Reply


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.