हज्ज के शिष्टाचार

हज्ज के शिष्टाचार

हज पर जान से पहले निम्नलिखित कुछ बातों को अपने जीवन में लागू करें ताकि अल्लाह तआला आप के हज्ज क ...

हज्ज का महत्व और उसके वाजिब होने की शर्तें

हज्ज का महत्व और उसके वाजिब होने की शर्तें

हज्ज वह महत्वपूर्ण इबादत है जो इस्लाम का पांचवाँ स्तम्भ है, जिस के बिना किसी मानव का इस्लाम पूर ...

हज्जतुल विदा के भाषण पर चिंतन मनन (भाग 2)

हज्जतुल विदा के भाषण पर चिंतन मनन (भाग 2)

3- जातिवाद तथा रंग और वंश के आधार पर भेद भाव का खंडनः  अन्तिम हज के भाषण में आप सल्लल्लाहु अलैह ...

क्या जमरात को कंकड़ी मारना अंधविश्वास है ?

क्या जमरात को कंकड़ी मारना अंधविश्वास है ?

हज में कंकड़ी मारना अंधविश्वास नहीं अल्लाह की महानता का बयान है। हमने एक लेख में लिखा था कि इस् ...

आज अरफ़ा का दिन है

आज अरफ़ा का दिन है

आज अरफ़ा का दिन है, अर्थात् 9वीं ज़िलहिज्जा जो सम्मान वाले दिनों में से एक दिन है, हज के दिनों ...

हज्जतुल विदा के भाषण पर चिंतन मनन (भाग 1)

हज्जतुल विदा के भाषण पर चिंतन मनन (भाग 1)

हिजरत के दसवें वर्ष अल्लाह के रसूल सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम हज की अदाएगी के लिए निकले ताकि नमाज ...

इमामे काबा का संदेश हाजियों के नाम

इमामे काबा का संदेश हाजियों के नाम

शैख अब्दुर्रहमान बिन अब्दुल अज़ीज़ अस्सुदैस इमाम और ख़तीब “मस्जिदे हराम” मक्का अल्ल ...

हज्ज और क़ुर्बानी के नायक

हज्ज और क़ुर्बानी के नायक

अभी हज्ज और क़ुर्बानी का त्योहार आ रहा है। हज्ज और क़ुर्बानी का इतिहास क्या है?मुसलमान हज़्ज और ...

हज्जः महत्व, महानता, तत्वदर्शिता और अहकाम

हज्जः महत्व, महानता, तत्वदर्शिता और अहकाम

हज्ज का महत्व क्या है,हज्ज क्यों किया जाता है, कब किया जाता है, कहाँ से किया जाता है, कब फ़र्ज़ ...

हज में एकेश्वरवाद के चिन्ह क़दम क़दम पर

हज में एकेश्वरवाद के चिन्ह क़दम क़दम पर

  आज इस्लामी आस्था के विषय को इतना तुच्छ समझ लिया गया है कि जिस किसी ने कलिमा शहादत की गवाही दे ...

हज्ज का तरीक़ा

हज्ज का तरीक़ा

  भारतीय उपमहाद्वीप के हाजी सामान्यतः हज्जे तमत्तुअ करते हैं और हज्जे तमत्तुअ यह है कि हाजी अपन ...

आर्थिक शक्ति होने के बावजूद हज्ज न करना भी बहुत बड़ा पाप है।

आर्थिक शक्ति होने के बावजूद हज्ज न करना भी बहुत बड़ा पाप है।

इस्लाम के पाँच स्तम्भों में से हज्ज पाँचवां स्तम्भ है। शक्ति और सुविधा होने के बाद हज्ज का अदा ...

क़ुरबानी करने का महत्व और उसके शिष्टाचार

क़ुरबानी करने का महत्व और उसके शिष्टाचार

ईद की नमाज़ अदा करने के बाद सब से उत्तम और बेहतरीन कार्य अल्लाह की खुशी के लिए क़ुरबानी करना है ...

ईदुल अज़्हा (बक़्रे ईद) के शिष्टाचार

ईदुल अज़्हा (बक़्रे ईद) के शिष्टाचार

इस्लाम धर्म में त्योहार मनाने का अन्दाज़ ही एक बहुत निराला और अन्य धर्म से अलग थलग है। जिस में ...

मानव जीवन पर हज्ज का प्रभाव

मानव जीवन पर हज्ज का प्रभाव

हज्ज की यात्रा प्रेम और स्नेह की यात्रा है, इसके रास्ते में आदमी अपने रब के दरबार में जा रहा हो ...

उमरा करने का तरीक़ा

उमरा करने का तरीक़ा

 उमरा के तीन स्तम्भ (अरकान) हैं: (1) इहराम (2) तवाफ (3) सफा और मर्वा की सई और उसके वाजिब दो हैं ...